Bounce rate kya hota hai? Bounce rate kaise kum kare?

2
84

Bounce rate kya hota hai?

हेल्लो फ्रेंड्स आज हम इस आर्टिकल में Bounce rate kya hota hai? बात करेंगे और ये क्या होता है हमें इसको जानना क्यों जरुरी है वेबसाइट के लिए क्यों इम्पोर्टेन्ट होता है दोस्तों अगर आप ब्लॉग्गिंग में नए है तो आपको अभी जायदा जानकारी Seo के बारे में और बाउंस रेट के बारे में जानकारी नहीं होगा तो चलिए इस आर्टिकल के जरिये जानते है।

Bounce rate kya hota hai? पूरी जानकारी

फ्रेंड्स बाउंस रेट वेबसाइट के लिए एक टाइप की मॉनिटरिंग का वर्क करती है अगर आपकी वेबसाइट पर किसी प्रकार से विजिटर आपके वेबसाइट से Return होते है या किसी प्रकार से Loading speed ने यूनिक आर्टिकल किसी भी प्रकार से ट्रैफिक नहीं आ रही है तो आपके विजिटर को ट्रैक करता है।

Bounce rate high hone ke 5 reasons

1.Website design – दोस्तों सबसे मोस्ट प्रॉब्लम तो वेबसाइट design की जो अछि डिज़ाइन न होने से विजिटर आपके साइट को चॉइस नहीं करते है।

2.Slow loading speed – अगर आपने अपने वेबसाइट पर कुछ फ़ालतू widget रखा हुआ है जिससे आपके साइट के लोडिंग स्पीड decrease ho  रही है यूज़ रिमूव करके गुड प् सकते है।

3.No unique Artical – ब्लॉग्गिंग की दुनिया में बहुत से लोग है और ब्लॉग्गिंग कर रहे आप कुछ नई आर्टिकल बताये डिफरेंट पोस्ट करे।

4.Fake information – अगर आप चाहते है की हमारी वेबसाइट फेमस हो अच्छा रिस्पांस मिले तो फेक आर्टिकल न करे जिससे विजिटर को आपके लिए नेगेटिविटी ho

5.Helpful website information – वेबसाइट से हम फेमस और ऑनलाइन मनी भी कमा सकते है बूत इसके लिए अच्छे – अच्छे आर्टिकल लिखे और हेल्पफुल इनफार्मेशन द।

दोस्तो बाउंस रेट decrease करना कुछ डिफिकल्ट है but me आपको इम्पोर्टेन्ट पॉइंट बता रहा हु जिसके हेल्प से इम्प्रोवे कर सकते है।

Dosto post acha lage to share kijiyega!!

1.Premium theme use kare – जायदा अच्छा वेबसाइट रहने के लिए बेस्ट थीम या पृमुँम थीम चूसे करे

2.Photo compress kar ke upload kare– अगर आप ब्लॉगर पर है तो फोटो कंप्रेस करके यूज़ करे।

3.Good website design– अपनी वेबसाइट को फ्रेश डिज़ाइन में रखें और वेबसाइट क्लीन रखे।

4.Updated website– अपने वेबसाइट पर पर सभी प्लगइन और सेटिंग को अपडेटेड रखे।

5.Remove unused widgets – अगर बाउंस रेट काम करना चाहते है तो बिना किसी काम का विजेट यूज़ न करे जिससे लोडिंग स्पीड इनक्रीस हो।

6.Use Internal Linking – वेबसाइट ब्लॉग्गिंग के वर्ड में इंटरलिंकिंग बहुत इम्पोर्टेन्ट है अगर अपने वेबसाइट में यूज़ करेंगे तो बाउंस रेट इम्प्रोवे में हेल्पफुल रहेग।

दोस्तों तो ये थे कुछ reasons दोस्तों में इसके बारे में एक दूसरा पोस्ट भी लिखूंगा। 

दोस्तो आपको ये  आर्टिकल कैसी लगी है और अपने फ्रेंड्स के साथ शेयर करे लास्ट में एक बात और अगर आप छह रहे है ऐसे अच्छे-अच्छे आर्टिकल डेली अपडेट में मिले तो आप हमारे वेबसाइट को सब्सक्राइब करे।

और अगर कोई problem होतो आप नीचे कमेंट कर सकते हो। कि hope आपको हमारा ये पोस्ट भी अच्छा लगा होगा।

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here